रामायण ने पूरी की बॉक्स ऑफिस की कमी,पुरानी यादें ताजा

Ramayan
73 / 100

रामायण

रामायण ने पूरी की बॉक्स ऑफिस की कमी,पुरानी यादें ताजा

लॉक डाउन की वजह से सबसे अधिक नुकसान मनोरंजन जगत में दिख रहा है।छोटे पर्दे ( रामायण  ) से लेकर बड़े पर्दे तक को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।24मार्च की रात 8बजे लॉकडाउन की घोषणा के बाद अचानक सभी धारावाहिकों का प्रसारण रुक गया।15 मार्च के बाद किसी सिनेमा को बड़े पर्दे पर रिलीज नहीं किया गया।सिनेमाघरों और मल्टीप्लेस के बन्द होने से बॉक्स ऑफिस खासे नुकसान में जा रहा है।लॉक डाउन के चार चरण होने के बाद भी मनोरंजन जगत को दोबारा कब शुरू किया जाएगा,यह कहना मुश्किल है। हर तरह की शूटिंग पर पाबंदी है।इस दौरान फिल्मी सितारे सरकार की जागरूकता मुहिम से जुड़ते दिखाई दे रहे हैं।कोई स्वच्छता के लिए प्रेरित कर रहा है तो कोई घर में रहने की अपील कर रहा है।अभी हालही में क्रिकेट टीम के खिलाड़ी मास्क बनाने के लिए प्रेरित करते देखे गए। सारा बॉलीवुड अपने लॉकडाउन के काल को जनता के सामने रख उन्हें भी टिप्स दे रहा है।कोई योग कर रहा है तो कोई परिवार के साथ समय बिता रहा।महामारी के इस काल में मनोरंजन जगत जितना नुकसान झेल रहा है,बजाए उसके वह अपने योगदान से पीछे नहीं हटा।अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री राहत कोष में 100 करोड़ रुपए देकर अच्छा उदाहरण पेश किया जिससे अन्य अभिनेता भी प्रेरित हुए। लॉकडाउन का समय फिल्मी दुनिया के लिए किसी भी रूप में अच्छा नहीं रहा।लगातार दो दिन में बॉलीवुड ने अपने दो सितारों को खो दिया।ऋषि कपूर के परिजनों ने लॉक डाउन का पूरा प्लान करते हुए,सामाजिक दूरी बनाकर उन्हें अंतिम विदाई दी। फन पार्क,वॉटर पार्क आदि सभी को बंदी को नुकसान भुगतना पड़ रहा है।आम तौर पर गर्मियों के मौसम को मौज मस्ती और मनोरंजन के रूप में देखा जाता है।लाखों लोग ,बड़े बूढ़े,बच्चे इन मनोरंजन पार्कों में घूमते हैं।लेकिन मौजूदा हालात के चलते अधिकांश अन्य क्षेत्रों की तरह मनोरंजन उद्योग पर इसका बुरा असर दिख रहा है।इस क्षेत्र के बड़े प्लेयर्स का मानना है कि प्रति वर्ष 2700 करोड़ रुपए से अधिक कमाने वाला उद्योग सबसे अधिक घाटे में जा रहा है।जिससे हजारों लोगों को रोजगार का नुकसान झेलना पड़ रहा है।गीत संगीत और रिकॉर्डिंग के लिए वर्क फ्रॉम होम को अपनाया गया है लेकिन वीडियो सूट का काम बाधित है।यह स्थिति कबतक बनी रहेगी यह कहना मुश्किल है।
प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार ने लॉकडाउन को रोचक बनाने के लिए डीडी के चैनलों पर रामायण,महाभारत, श्री कृष्ण,विष्णु पुराण,चाणक्य आदि धारावाहिकों का पुनः प्रसारण शुरू किया।देशभर के युवाओं में इन धार्मिक धारावाहिकों के प्रति अथाह श्रद्धा और जिज्ञासा उत्पन्न की।बुजुर्गो के पास 80के दशक की अनेकों कहानियां और घटनाएं थी जिसने इसे और आनंददायक बना दिया। लॉकडाउन के इस समय में ऑनलाइन गेम्स का चलन 20गुना बढ़ गया है।आने वाला युग इससे बचा रहे यह मुश्किल ही दिख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *